खुद का बचाव करते हुए पाकिस्तान ने अब अफगान दूत की बेटी के अपहरण कांड में भारत को घसीटा 

 नई दिल्ली 
अफगान राजदूत की बेटी के अपहरण के मामले में खुद का बचाव करते हुए पाकिस्तान ने अब भारत को भी घसीट लिया है। पाकिस्तान ने कहा है कि इस मामले पर अफगान और भारतीय तथ्यों को मोड़ने की कोशिश कर रहे हैं और पाकिस्तान को बदनाम किया जा रहा है। अफगान राजदूत की बेटी के अपहर पर पाकिस्तान अब हर तरफ से घिर चुका है इसलिए अपने बचाव में वह इस तरह की बातें कर रहा है। पाकिस्तान ने कहा कि उसे 'हाइब्रिड जंग' का शिकार बनाया जा रहा है। हाइब्रिड युद्ध एक सैन्य रणनीति का सिद्धांत है, इसके तहत पारंपरिक युद्ध के जरिये नहीं बल्कि साइबर अटैक, कूटनीति, फेक न्यूज का इस्तेमाल कर किसी देश को निशाना बनाया जाता है। पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री शेख रशीद अहमद ने अफगानिस्तान और भारत पर इस्लामाबाद में अफगान दूत की बेटी के अपहरण से जुड़े तथ्यों में 'तोड़फोड़' करने का आरोप लगाया है।

रावलपिंडी में मंत्री पत्रकारों से कहा कि यह घटना अपहरण नहीं थी बल्कि पाकिस्तान को बदनाम करने और अस्थिर करने के प्रयासों की एक सीरीज का हिस्सा है।अफगानिस्तान के राजदूत नजीबुल्लाह अलीखिल की बेटी सिलसिला अलीखिल को घर जाते समय कई घंटों के लिए अगवा कर लिया गया था और अज्ञात लोगों ने उसे बुरी तरह प्रताड़ित किया था। पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री ने कहा कि अधिकारियों द्वारा की गई जांच में राजदूत की बेटी से संबंधित घटना में अपहरण का कोई सबूत नहीं मिला।

 मंत्री के हवाले से कहा, "हमारी जांच के मुताबिक, अफगान राजदूत की बेटी से जुड़ी घटना अपहरण का मामला नहीं है।" उन्होंने कहा कि पीड़िता के बयान के मुताबिक वह एक बेकरी से टैक्सी में घर लौट रही थीं, तभी ड्राइवर ने एक और व्यक्ति को गाड़ी में बैठा लिया. उस आदमी ने पीड़िता के साथ गाली-गलौच की और उन्हें प्रताड़ित किया. उसके बाद उन्हें बेहोशी की हालत में सड़क पर फेंक दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *