प्रदेश के अगले CMनाथ और इंदौर के महापौर होंगे संजय शुक्ला-जीतू पटवारी

इंदौर
इंदौर में आज शहर कांग्रेस कमेटी की बैठक हुई। इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए प्रदेश के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बड़े दावे करते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने इंदौर में दावा किया है कि प्रदेश में 2023 नवम्बर के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ होंगे और इंदौर में निकाय चुनाव में हर स्थिति में महापौर संजय शुक्ला ही होंगे।

दरअसल, कोविड योद्धा समिति के तहत कार्यकर्ता अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर कोरोना से मृत हुए लोगों की जानकारी जुटा रही है और इसी सिलसिले में आज ब्लॉक स्तर के कार्यकर्ताओं को भी बैठक में बुलाकर जिम्मेदारी सौंपी गई। इसी दौरान पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने दावों के साथ ही प्रदेश और केंद्र सरकार पर सवाल उठाए। पूर्व मंत्री ने सीएम शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश को कर्जे में लाकर खड़ा कर दिया है, शिवराज सरकार पर इतना कर्ज है कि मध्यप्रदेश के कुल बजट में विकास के लिए पैसा नहीं बचेगा। प्रदेश के समृद्ध और आत्मनिर्भर बनाने की बात थी लेकिन शिवराज सरकार ने प्रदेश को कर्जदार बना दिया।

प्रदेश में फरलो योजना लागू किये जाने को लेकर कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा कि ये सरकार अपनी जिम्मेदारियों से बच रही है। उन्होंने बेरोजगारी पर सवाल को उठाते हुए कहा कि सीएम ने एक माह पहले बयान दिया था कि 1 लाख लोगों को 1 महीने में रोजगार मिलेगा। लेकिन सरकार 1 लाख नहीं 1 हजार लोगो को ही बता दें कि उन्होंने जॉब दिया है।

राम मंदिर और जनसंख्या नियंत्रण कानून पर कही ये बात

इसके अलावा पूर्व मंत्री ने कहा कांग्रेस ने कभी राम मंदिर का विरोध नही किया बल्कि कांग्रेस ने तो कहा था सहमति से या कोर्ट के निर्णय पर मंदिर निर्माण किया जाए और मंदिर निर्माण को लेकर कांग्रेस ने खुशी भी जताई है। वही उन्होंने ये भी कहा कि पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह ने कभी नही कहा कि कांग्रेस धारा 370 वापस लाएगी। वही देश मे जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस इसका समर्थन करती है। उन्होंने कहा जनसंख्या नियंत्रण कांग्रेस पार्टी का मोटिव तब आरएसएस ने विरोध किया था। जनसंख्या नियंत्रण का इंदिरा जी कानून लाई थी तब बीजेपी और अटल जी विरोध कर रहे थे। वही मध्यप्रदेश में दो बच्चो का कानून दिग्विजयसिंह की सरकार लाई थी जबकि बीजेपी ने उसको समाप्त कर दिया।

इधर, कोरोना को लेकर पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेशभर से कांग्रेस कोरोना से जान गंवाने वालो की जानकारी जुटाकर सच्चाई अगले कुछ दिनों में लाएगी जिसमे आंकड़े हर जगह से जुटाए जाएंगे। विधायक संजय शुक्ला ने भी कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान वो सड़क पर उतरे थे और प्रशासन और बीजेपी नेता रेसीडेंसी में चाय पी रहे थे। उन्होंने कहा कि उनकी विधानसभा में करीब 10 हजार लोगो की जान कोविड के चलते गई है वही इंदौर करीब 1 लाख लोगों ने जान गंवाई होगी। वही उन्होंने निकाय चुनाव के किसी भी प्रणाली से लड़ने का एलान करते हुए ये भी जता दिया कि इंदौर के अगले महापौर की जिम्मेदारी संभालने के लिए वे तैयारी कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *