शरद पवार का मोदी सरकार पर आरोप- केंद्रीय एजेंसियों का राजनीति के लिए किया जा रहा दुरुपयोग

नई दिल्ली
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार ने केंद्र की मोदी सरकार पर केंद्रीय एजेंसियों का राजनीति के लिए इस्तेमाल करने का गंभीर आरोप लगाया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए एनसीपी प्रमुख ने कहा कि केंद्र कुछ संस्थानों जैसे सीबीआई, आयकर, ईडी, एनसीबी का इस्तेमाल राजनीति के लिए कर रही है। एनसीपी नेता ने कहा कि केंद्र सरकार कुछ संस्थानों का दुरुपयोग कर रही है। यह दिखाई दे रहा है कि सीबीआई, ईडी, एनसीबी का राजनीतिक इस्तेमाल किया जा रहा है

परमबीर सिंह पर उठाया सवाल उन्होंने कहा कि पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर एक पुलिस अधिकारी ने आरोप लगाया जिसके चलते उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। उस आरोप लगाने वाले पुलिस अधिकारी का कहीं पता नहीं चल रहा है। परमबीर सिंह अब क्यों गायब हो गए हैं? अनिल देशमुख के घर पर पांचवी बार छापा मारा गया है। सीबीआई की यह रिकॉर्ड पांच बार छापेमारी है।

बता दें कि मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री और अनिल देशमुख के ऊपर पुलिस से वसूली कराने का आरोप लगाया था। आरोपों के चलते अनिल देशमुख को इस्तीफा देना पड़ा था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से परमबीर सिंह के बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई हैं और वे कहां हैं इस बारे में भी पता नहीं है। ऐसी भी रिपोर्ट आई थीं जिसमें कहा गया था कि परमबीर सिंह विदेश भाग गए हैं हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। कई दिनों से लापता चल रहे परमबीर सिंह के घर पर मुंबई पुलिस ने नोटिस भी चस्पा किया है। एनसीबी कर रही दिखावा- पवार वहीं एनसीपी नेता ने एनसीबी की कार्रवाई में हाई प्रोफाइल लोगों की गिरफ्तारी को महज दिखावा बताया है। 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की एंटी नॉरकोटिक्स सेल ने एनसीबी की तुलना में बड़ी बरामदगी की है जिससे एक बात स्पष्ट हो जाती है कि राज्य कि एजेंसियां ईमानदारी और सीधी तरह से अपना काम कर रही हैं जबकि एनसीबी हाई प्रोफाइल लोगों की गिरफ्तारी करना केंद्र को यह दिखाने की कोशिश है कि वह कुछ काम कर रही है। शरद पवार बोले- लखीमपुर पीड़ितों के लिए आवाज उठाई, इसलिए पड़े आईटी छापे जब उनसे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के बारे में पूछा गया तो पवार ने कहा कि "मैने अधिकारियों से वानखेड़े के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की है जब वह पहले एयरपोर्ट पर तैनात थे। मुझे कुछ कहानियों के बारे में पता चला है लेकिन इस बारे में तस्वीर साफ नहीं है इसलिए अभी मैं उस पर कुछ नहीं कहूंगा।" 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *