नवमीं पर शहर में दुर्गा पंडालों-घरों में हो रहे भंडारे-हवन और कन्याभोज

भोपाल
आज नवरात्र का समापन हो रहा है।  नवमी पर शहर में दुर्गा पंडालों और घरों में हवन व कन्याभोज के आयोजन हो रहे हैं। कल विजय दशमी का पर्व मनाया जाएगा।  महाष्टमी पर घरों में श्रद्धालुओं ने कुलदेवी की पूजा की। पुलपुख्ता स्थित काली देवी, दुर्गाधाम मंदिर अशोका गार्डन और सोमवारा भवानी मंदिर में पूजा आरती में भक्त शामिल रहे। आज भी राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित मंदिरों और घरों में नवमी पर भंडारे और कन्या भोज किया जा रहा है।  नवरात्र के समापन पर आज दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन का सिलसिला शुरू जाएगा। कोरोना के गाइड लाइन के कारण विशेष चल समारोह नहीं निकलेंगे।  इधर  मां चामुंडा दरबार के पुजारी गुरू पं. रामजीवन दुबे ने बताया कि आज आश्विन शुक्ल पक्ष दुर्गा महानवमी को रवि योग में देवी मंदिरों एवं दरबारों के साथ समस्त झाकियों में पूजा-पाठ, हवन-आरती प्रसाद वितरण, कन्या भोज के साथ भंडारे का आयोजन किए जा रहे हैं।

नंदीश्वर जिनालयों में भगवान जिनेंद्र की हुई आराधना
भोपाल। नंदीश्वर जिनालय लालघाटी में मुनिश्री संभव सागर महाराज के सान्निध्य में रामवशरण विधान और विश्व शांति महायज्ञ में श्रद्धालुओं ने अर्द्ध समर्पित किए। यहां आकर्षक समवशरण की प्रतीकात्मक रचना की गई। मुनिश्री ने कहा कि जीवन में लक्ष्य साधकर बढ़ते चलें, मंजिल आवश्य मिलेगी। ज्ञान के साथ संयम व विवेक और उच्च आचरण बहुत जरूरी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *