स्‍कूलों में पढ़ाने नहीं पहुंच रहे शिक्षक, 8 अध्‍यापकों की दो-दो वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश

भिंड
सरकारी स्‍कूलों में शिक्षकों की मनमानी से छात्रों का जीवन बर्बाद हो रहा है। शिक्षक इतने लापरवाह हो गए हैं कि पढ़ाना तो दूर, स्‍कूलों में जाते तक नहीं हैं। कभी भी मनमर्जी से अवकाश ले लेते हैं, जिसकी सूचना अपने प्रिंसिपल को नहीं देते। प्रभारी कलेक्टर के निर्देशन में संयुक्त कलेक्टर एवं जिला परियोजना समन्वयक वरूण अवस्थी द्वारा गठित निरीक्षण दल ने मंगलवार को मेहगांव क्षेत्र के शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय बहुआ, माध्यमिक विद्यालय खेरियाबाग, माध्यमिक विद्यालय अमृतपुरा स्कूल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान यह स्कूल बंद पाए गए। इसको लेकर संबंधित प्रधानाध्यापकों एवं अध्यापकों, जनशिक्षकों की दो-दो वेतन वृद्वि असंचयी प्रभाव से रोकने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं।

वहीं शासकीय माध्यमिक विद्यालय नारायणपुरा के लिए गए निरीक्षण के दौरान हेमलता प्राथमिक शिक्षा प्रभारी प्रधानाध्यापक बिना अवकाश के संस्था से अनुपस्थित पाई गईं। जिसके फलस्वरूप् इनकी भी दो वेतनवृद्वि बंद करने के िनर्देश दिए गए हैं। स्कूल बंद मिलने पर जनशिक्षक अजय शर्मा जनशिक्षा केंद्र बरहद के विरुद्ध भी दो वेतन वृद्धि रोकने की कार्रवाई की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *